Shivratri Kab Hai | Happy Shivratri 2022 Wishes Quotes Images Status

महा शिवरात्रि भगवान शिव के सम्मान में प्रतिवर्ष मनाया जाने वाला एक हिंदूओ का त्योहार है। शिवरात्रि वैसे तो प्रति माह आता है जो अमावस्या के एक दिन पहले की रात हो शिव की रात कहते है किन्तु इसे वर्ष में एक बार सर्दियों के अंत और गर्मी के शरुवात में मनाया जाता है| जो फरवरी या मार्च के माह में होता है जिसे महाशिवरात्रि कहाजाता है|

shivratri 2022

Maha Shivratri 2022

यह पर्व फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी की रात को मनाया जाता है| इस वर्ष २०२२ में शिवरात्रि 1 मार्च मंगलवार को है। इस दिन शिव और शक्ति का मिलान हुवा था| आध्यात्मिक के दृस्टि से इसे प्रकृति और पुरुष के मिलान की रत के रूप में बतया जाता है| सभी शिवभक्त इस दिन व्रत रखकर अपने आराध्य शिव जी का आशीर्वाद प्राप्त करते हैं। लेकिन क्या आपको इस महाशिवरात्रि की पीछे की घटना का पता है, इसे क्यों मनाया जाता है|

महाशिवरात्रि के दिन शिवजी पहली बार प्रकट हुए

कुछ लोग कहते है की पौराणिक कथाओं के अनुसार, महाशिवरात्रि के दिन शिवजी पहली बार प्रकट हुए थे। शिव का प्राकट्य ज्योतिर्लिंग यानी अग्नि के शिवलिंग के रूप में था। ऐसा शिवलिंग जिसका ना तो आदि था और न अंत। बताया जाता है कि शिवलिंग का पता लगाने के लिए ब्रह्माजी हंस के रूप में शिवलिंग के सबसे ऊपरी भाग को देखने की कोशिश कर रहे थे लेकिन वह सफल नहीं हो पाए। वह शिवलिंग के सबसे ऊपरी भाग तक पहुंच ही नहीं पाए। दूसरी ओर भगवान विष्णु भी वराह का रूप लेकर शिवलिंग के आधार ढूंढ रहे थे लेकिन उन्हें भी आधार नहीं मिला।

शिवलिंग विभिन्न 64 जगहों पर प्रकट हुए

एक और कथा यह भी है कि महाशिवरात्रि के दिन ही शिवलिंग विभिन्न 64 जगहों पर प्रकट हुए थे। उनमें से हमें केवल 12 जगह का नाम पता है। इन्हें हम 12 ज्योतिर्लिंग के नाम से जानते हैं। महाशिवरात्रि के दिन उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में लोग दीपस्तंभ लगाते हैं। दीपस्तंभ इसलिए लगाते हैं ताकि लोग शिवजी के अग्नि वाले अनंत लिंग का अनुभव कर सकें। यह जो मूर्ति है उसका नाम लिंगोभव, यानी जो लिंग से प्रकट हुए थे। ऐसा लिंग जिसकी न तो आदि था और न ही अंत।

शिवजी की शादी

महाशिवरात्रि को पूरी रात शिवभक्त अपने आराध्य जागरण करते हैं। शिवभक्त इस दिन शिवजी की शादी का उत्सव मनाते हैं। मान्यता है कि महाशिवरात्रि को शिवजी के साथ शक्ति की शादी हुई थी। इसी दिन शिवजी ने वैराग्य जीवन छोड़कर गृहस्थ जीवन में प्रवेश किया था। शिव जो वैरागी थी, वह गृहस्थ बन गए। माना जाता है कि शिवरात्रि के 15 दिन पश्चात होली का त्योहार मनाने के पीछे एक कारण यह भी है।

Shivratri Wishes

shivratri wishes in hindi

अकाल मृत्यु वो मरे जो काम करे चांडाल का,
काल भी उसका क्या करे,
जो भक्त हो महाकाल का,
जय महाकाल महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं

जिनके रोम-रोम में शिव हैं वही विष पिया करते हैं,
जमाना उन्हें क्या जलाएगा,
जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं।
जय भोलेनाथ

कर्ता करे न कर सकै,
शिव करै सो होय।
तीन लोक नौ खंड में,
महाकाल से बड़ा न कोय।।
जय श्री महाकाल

शंकर की ज्योति से नूर मिलता है,
भक्तों के दिलों को सुकून मिलता है,
शिव के द्वार आता है जो भी
सबको फल जरुर मिलता है।
शुभ शिवरात्रि

Quotes

सारा जग है प्रभु तेरी शरण में,
सर झुकाते हैं शिव तेरे चरण में,
हम बनें भोले की चरणों की धूल,
आओ शिव जी पर चढ़ायें श्रद्धा के फूल|

भोले की लीला में मुझको डूब जाने दो
शिव जी के चरणों में शीश झुकाने दो
आज है शिवरात्रि मेरे भोले बाबा का दिन
आज के दिन मुझे भोले के गीत गाने दो|

महाशिवरात्रि के उपलक्ष पर
शिव और शक्ति के मिलन की हार्दिक शुभकामनायें|

दिखावे की मोहब्बत से दूर रहता हूँ,
मैं तो ‘भगवान शिव’ की भक्ति में चूर रहता हूँ|

कैसे कह दूँ कि मेरी, हर दुआ बेअसर हो गई,
मैं जब-जब रोया तब-तब महादेव को खबर हो गई|
Happy Maha Shivratri

Images

happy shivratri

happy maha shivratri

shivratri

Happy Shivratri

Shivratri Whatsapp Video Status

Download

Download

 

Download

 

Download

Download


 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *